Saturday, 31 October 2020

शरद पूर्णिमा

 शरद पूर्णिमा 
----------------

चार  हाइकु 

 

 1)

रास पूर्णिमा 

लिए शरद गंध 

छू गयी हवा !


2)

पुनों का चाँद 

लपका समन्दर 

अंक में भरा !


3)

चखती ओस 

अमृत का प्रसाद 

बांटें कौमुदी !


4)

जीमने बैठे 

अमृत का प्रसाद 

ओस के कण !



-आभा खरे  

8 comments:

  1. नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा सोमवार 2 नवंबर 2020) को 'लड़कियाँ स्पेस में जा रही हैं' (चर्चा अंक- 3873 ) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्त्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाए।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    --
    #रवीन्द्र_सिंह_यादव

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरी प्रविष्टि को शामिल करने हेतु हार्दिक आभार आदरणीय।

      Delete
  2. बहुत सुन्दर हाइकु ।

    ReplyDelete
  3. बहुत ही सुंदर हाइकु।

    ReplyDelete

शरद पूर्णिमा

 शरद पूर्णिमा  ---------------- चार  हाइकु     1) रास पूर्णिमा  लिए शरद गंध  छू गयी हवा ! 2) पुनों का चाँद  लपका समन्दर  अंक में भरा ! 3) चख...